MBBS Full Form | What is the Full From Of MBBS in Hindi.

MBBS Full Form | What is the Full From Of MBBS – बहुत सारे लोग को MBBS का नाम तो सुने होते है लेकिन इसका फुल फॉर्म क्या है यह नहीं पता होता है इसलिए आज हम आपको MBBS क्या है और इसके बारे में वह सभी जानकारी जो की जरुरी होती है, जैसा की हमको यह तो पता है की जिसके पास MBBS की डिग्री होती है उसके नाम के साथ में डॉक्टर लगा होता है और यह एक मास्टर डिग्री है. इस डिग्री के साथ में रहने का मतलब होता है  किसी अच्छे कॉलेज में जॉब मिलने की संभावना ९५%होती है, तो चलिए लेते है mbbs के बारे में पूरी जानकारी.

MBBS Full Form | What is the Full From Of MBBS.

MBBS Full Form | What is the Full From Of MBBS in Hindi.
MBBS Full Form | What is the Full From Of MBBS in Hindi.

जैसा की आपने देखा की आज की टॉपिक mbbs के ऊपर है तो इसलिए आज हम पहले MBBS FULL FORM के बारे में समझ लेते है

MBBS : bachelor of medicine, bachelor of surgery

MBBS को आप डॉक्टर के रूप में भी संबोधित किया जाता है और जो भी mbbs की पढाई पूरी करके डिग्री ले लेता है उसको अपने नाम के आगे डॉक्टर लगाने का अधिकार होता है,बहुत सारे देशों में यह कोर्स पांच से छह तक चलाई जाती है उसके बाद mbbs की डिग्री दी जाती है ऊपर दिए गए नाम से यही समझ पड़ता है की bachelor of medicine और bachelor of surgery दोनों अलग अलग है लेकिन जब आप इसकी पढाई पूरी कर लेते है तो आपको एक ही डिग्री मिलती है वह है mbbs की जो आपको dr यानि डॉक्टर लगाने का अधिकार देता है,यह कोर्स एक undergradute academic कोर्स है जो मेडिसिन [ दवा ] और सर्जरी के साथ में काम करता है

MBBS  के पाठ्यक्रम की अवधि 4.5 वर्ष होती है जिसमे से प्रत्येक वर्ष में दो छमाही होते है जो छः महीने की होती है और आपको सभी छमाही उत्तीर्ण करने होते है उसके बाद जब आपका कोर्स पूरा हो जाता है तो आपको उसी कॉलेज के साथ एक साल की intership करनी होती है मतलब आपको उसके साथ एक वर्ष और बिताने होते है.

MBBS Eligibility.

  • भारत में एमबीबीएस कोर्स में प्रवेश पाने के लिए, छात्रों को भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान और जीवविज्ञान के साथ अपनी 10 + 2 शिक्षा पूरी करनी होती है और न्यूनतम 50% अंक ( आरक्षित वर्ग के मामले में 40% ) स्कोर करना है.
  • छात्र की आयु 17 से 25 वर्ष के बीच होनी चाहिए.
  • किसी भी मेडिकल कॉलेज में प्रवेश पाने के लिए  एक उमीदवार को Common Entrance Test ( CET ) और All India Medical
    Entrance Examination ( AIMEE ) के लिए आवेदन करने की आवश्यकता होती है.

नोट: एमबीबीएस प्रवेश परीक्षा का संचालन अब नीट ( NEET ) करता है. जिसमें भारत के लगभग सभी सरकारी एवं प्राइवेट मेडिकल कॉलेज शामिल हैं लेकिन AIIMS, JIPMER एवं AFMCअलग से प्रवेश परीक्षा का संचालन करता है.

Read Also.

MBBS Course Duration.

MBBS एक 5.5 वर्ष [ जिसमे 4.5 पाठ्यक्रम की शैक्षिक योग्यता+1 वर्ष की intership ] की स्नातक चिकित्सा और बैचलर ऑफ़ सर्जरी के रूप में दो प्रोग्राम होते है.

१२वीं करने के बाद सबसे ज्यादा मांग करने वाली पाठ्यक्रम में से एक है MBBS की मांग बहुत सारे देशों की कालेजों की मांग में से एक है यंहा छात्रों को मरीजों के साथ बात चीत करने का और उनके रोग के बारे में भी जानकारी देती है MBBS  के लिए सिर्फ वही छात्र आवेदन कर सकते है जिन्होंने 10+2 बायोलोजी, फिजिक्स, केमिस्ट्री से पास किया है, सिर्फ वही MBBS के लिए आवेदन कर सकते है. MBBS भारत के केवल एक ही ऐसा कोर्स है जो आपको मेडिकल और सर्जरी का ज्ञान एक साथ देती है इसमें आपको पांच साल तक मरीजों/रोगियों के साथ बात करना और व्यव्हार कुशलता भी शामिल है इसमें कुछ और भी कौशल की जानकारी दी जाती है.

  • एक अच्छी जिम्मेदारी का एहसास [ जिम्मेदारी बहुत जरुरी है इसमें ].
  • एक अच्छी सहन शक्ति का होना [ अच्छी सहन शक्ति बहुत जरुरी है ].
  • टीम के साथ कार्य करना
  • किसी की मदद करने में दिलचस्पी रखना
  • कौशल और ज्ञान को बढ़ाते रहना
  • मानसिक संतुलन सही रखना

एमबीबीएस फीस

भारत में एमबीबीएस कोर्स करने के लिए प्राइवेट एवं सरकारी कॉलेज दोनों मौजूद लेकिन इस की फीस में काफी अंतर होता है. आप प्राइवेट कॉलेजों का फीस भी अब राज्य सरकारें ने तयकरती हैं. अगर सरकारी मेडिकल कॉलेज की बात करें तो सबसे कम फीस एम्स का है जिसका फीस मात्र 1390 रुपए प्रति साल हैं जबकि आर्मी मेडिकल कॉलेज की फीस 56500 रुपए प्रति साल है.

एमबीबीएस फीस भारत के प्राइवेट कॉलेजों में ज्यादा होता है यह देखा गया है कि 9 लाख से लेकर 12 लाख रुपए प्रति वर्ष की फीस होती है. 5.5 सालों के कोर्स में 4.5 सालों का फीस विद्यार्थी को कॉलेज को देना होता है क्योंकि एक साल का ट्रेनिंग प्रोग्राम होता है जिसमें छात्रों को फीस नहीं देना पड़ता है.

नौकरियां और वेतन

एमबीबीएस कोर्स करने के बाद छात्रों के पास दो ऑप्शन होते हैं, पहला ऑप्शन MS / MD दाखिला ले सकते हैं. MS / MD करने वाले छात्रों को कॉलेज पेमेंट भी करता है. दूसरा ऑप्शन यह है कि वह किसी भी हॉस्पिटल में नौकरी कर सकता है. एमबीबीएस कोर्स करने के बाद, डॉक्टर्स का वेतन कम से कम ₹50000 प्रतिमाह होती है! दिन-प्रतिदिन, बीमारियों वृद्धि के कारण चिकित्सा पेशेवरों की मांग बढ़ रही है. एमबीबीएस में कैरियर बहुत अच्छा है लेकिन उन छात्रों के लिए ज्यादा बेहतर होगा जो ज्यादा मेहनत करना पसंद करते हैं.

एमबीबीएस कोर्स करने के बाद  – जॉब प्रोफाइल

  • जूनियर डॉक्टर
  • जूनियर फिजीशियन
  • जूनियर सर्जन
  • मेडिकल प्रोफेसर या लेक्चरर
  • शोधकर्ता
  • वैज्ञानिक

रोजगार के क्षेत्र

  • सरकारी अस्पताल
  • निजी अस्पताल
  • प्रयोगशाला
  • बायोमेडिकल कंपनियों
  • मेडिकल कॉलेज
  • प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र
  • फार्मास्यूटिकल और बायोटेक्नोलॉजी के कंपनियों

निष्कर्ष : MBBS Full Form | What is the Full From Of MBBS in Hindi. के बारे में यंहा पर जो भी जानकारी दी गई है वह बहुत ही जगह से खोज करके आपको एक ही स्थान पर देने की कोशिश किया गया है और लगभग हमने आपको पूरी जानकरी दी है और यह जानकारी आपको आगे क्या करना है ? आपको mbbs करना चाहिये या नही ? यह निर्णय लेने में helpful साबित होगी. आपको अगर आपको लगता है की इस पोस्ट में कुछ और जानकारी देने की आवश्यकता है तो आपसे निवेदन है की आप हमें कमेंट करके जरुर बताये.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *